प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण 2022: Online Registration | PMAYG

PRADHAN MANTRI AWAAS YOJANA GRAMIN | प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना | PMAY-G | Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana Apply | PM Gramin Awas Yojana | ग्रामीण आवास योजना ऑनलाइन आवेदन | Apply PMAY Gramin | पीएम ग्रामीण आवास योजना फॉर्म | प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना |प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022:

Table of Contents hide
1 प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022:

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण योजना के अंतर्गत लगने वाली कुल लागत 130075 करोड़ रूपये है PMAY-G के तहत लगने वाली कुल लागत का वहन केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार के बीच 60:40 के साझा क्षेत्रो में की जानी है तथा पहाड़ी क्षेत्रो के लिए 90:10 के बीच साझा की जानी है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2022 के तहत ग्रामीण क्षेत्रो में पक्का घर निर्माण का काम वर्ष 2022 तक पूरा किया जायेगा। PMAY-G के अंतर्गत कमज़ोर वर्ग के लोगो को पक्का घर बनाना के लिए दी जाने वाली धनराशि लाभार्थी के सीधे बैंक अकॉउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना:

प्रधानमंत्री आवास योजना, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा कार्यान्वित है जो भारत सरकार द्वारा, 25 जून 2015 को शुरू किया गया था। मिशन झुग्गी निवासियों सहित ईडब्ल्यूएस / एलआईजी और एमआईजी श्रेणियों के बीच शहरी आवास की कमी को संबोधित करता है। इसका उद्देश्य, वर्ष 2022 तक सभी पात्र परिवारों के लिए एक पक्का घर राष्ट्र की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे करने पर सुनिश्चत करना है।

प्रधानमंत्री आवास योजना नवीन Update 2022:

  • वर्ष 2022 तक सभी के लिए आवास” के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए, प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी (PMAY-U) और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) पेश किया।
  • वर्ष 2020 में योजना के पांच साल पूरे हुए हैं और अब तक आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) को PMAY-U के तहत लगभग 1.12 करोड़ घरों की सत्यापित प्राप्त हुई है।
  • आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) को प्राप्त कुल, 65 लाख घरों की नींव रखी गई है और 35 लाख घरों का निर्माण और देश भर में लाभार्थियों के बीच वितरित किया गया है।
  • 20 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) नामक पुनर्गठित ग्रामीण आवास योजना का शुभारंभ “वर्ष 2022 तक सभी के लिए आवास” के लक्ष्य को प्राप्त करने के उद्देश्य से किया गया था। इस योजना में ग्रामीण क्षेत्रों में सभी मूलभूत सुविधाओं के साथ 2.95 करोड़ घर बनाने का लक्ष्य रखा गया था।
  • उल्लेखनीय है कि इसके तहत 1.10 करोड़ घरों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है, जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) के तहत 1.46 लाख भूमिहीन लाभार्थियों के आवास शामिल हैं।
  • आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने प्रधान मंत्री आवास योजना-शहरी (PMAY-U) के तहत एक उप-योजना, किफायती रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स (AHRC) शुरू की है। यह औद्योगिक क्षेत्र के साथ-साथ अनौपचारिक शहरी अर्थव्यवस्था में शहरी प्रवासियों/गरीबों को उनके कार्यस्थल के करीब सम्मानजनक किफायती किराये के आवास तक पहुंच प्राप्त करने में आसानी प्रदान करेगा।
  • MoHUA ने ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज-इंडिया (GHTC-India) की शुरुआत की है, जिसका उद्देश्य आवास निर्माण क्षेत्र के लिए दुनिया भर से नवीन निर्माण प्रौद्योगिकियों की पहचान करना और उसे मुख्यधारा में लाना है जो टिकाऊ, पर्यावरण के अनुकूल और आपदा-निरोधक हों।
  • एक वेब आधारित निगरानी प्रणाली, CLSS आवास पोर्टल (CLAP) एक सामान्य मंच है जहां सभी हितधारक यानी MoHUA, केंद्रीय नोडल एजेंसियां, प्राथमिक ऋण देने वाले संस्थान, लाभार्थी और नागरिक वास्तविक समय के वातावरण में एकीकृत होते हैं।
  • इस पोर्टल लाभार्थियों द्वारा सब्सिडी की स्थिति पर नज़र रखने के साथ-साथ आवेदनों के प्रसंस्करण की सुविधा प्रदान करता है। CLSS ट्रैकर को PMAY-U मोबाइल ऐप और UMANG प्लेटफॉर्म में भी शामिल किया गया है।
  • मिशन पूरे शहरी क्षेत्र को कवर करता है जिसमें सांविधिक शहर, अधिसूचित योजना क्षेत्र, विकास प्राधिकरण, विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण, औद्योगिक विकास प्राधिकरण या राज्य कानून के तहत ऐसा कोई प्राधिकरण शामिल है जिसे शहरी नियोजन और विनियमों के कार्य सौंपे गए हैं।
  • PMAY-U के तहत सभी घरों में शौचालय, पानी की आपूर्ति, बिजली और रसोई जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होती हैं।
  • मिशन महिला सदस्य के नाम पर या संयुक्त नाम पर घरों का स्वामित्व प्रदान करके महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देता है।
  • विकलांग व्यक्तियों, वरिष्ठ नागरिकों, एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक, एकल महिलाओं, ट्रांसजेंडर और समाज के अन्य कमजोर और कमजोर वर्गों को भी वरीयता दी जाती है।
  • PMAY-U हाउस सम्मानजनक जीवन के साथ-साथ सुरक्षा की भावना और लाभार्थियों को स्वामित्व का गौरव सुनिश्चित करता है।

COVID-19 महामारी के परिणामस्वरूप देश में शहरी प्रवासियों/गरीबों का रिवर्स माइग्रेशन हुआ है। आवास की लागत बचाने के लिए शहरी प्रवासी मलिन बस्तियों / अनौपचारिक बस्तियों / अनधिकृत कॉलोनियों / परिनगरीय क्षेत्रों में रहते हैं। यह शहरी प्रवासियों / औद्योगिक क्षेत्र के साथ-साथ अनौपचारिक शहरी अर्थव्यवस्था में गरीबों को उनके कार्यस्थल के पास सम्मानजनक किफायती किराये के आवास तक पहुंच प्राप्त करने में आसानी प्रदान करेगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का 3 वर्षों के लिए किया गया विस्तार:

8 दिसंबर 2021 को केंद्रीय मंत्रिमंडल के द्वारा अगले 3 वर्षों के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना को जारी रखने की मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर जी के द्वारा एक मीडिया ब्रीफिंग के माध्यम से प्रदान की गई है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का विस्तार मार्च 2021 से मार्च 2024 तक कर दिया गया है। अब ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले पात्र शेष नागरिको इस योजना के माध्यम से पक्का घर प्राप्त हो सकेगा। इस योजना का विस्तार करने के पश्चात शेष 155.75 लाख घरों के निर्माण किए जाएंगे। जिससे कि 2.95 करोड़ घरों के निर्माण के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता प्राप्त होगी। 155.75 लाख घरों के निर्माण में सरकार द्वारा 198581 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

PRADHAN MANTRI AWAAS YOJANA-GRAMIN महत्वपूर्ण बिंदु / Overview:

योजना का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण
आरम्भ की गई Ministry of Rural Development, Government of India
आरम्भ की तिथि 25 June 2015
लाभार्थी सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (Socio-Economic Caste Census: SECC) डेटाबेस के आधार पर छूटे हुए पात्र परिवारों का निर्धारण किया जाता है। शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में पात्र परिवारों शामिल हैं। और उनको पक्का घर प्रदान करना हैं।
उद्देश्य प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2022, PMAY-U और PMAY-G के तहत सभी घरों में शौचालय, पानी की आपूर्ति, बिजली और रसोई जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होती हैं। मिशन महिला सदस्य के नाम पर या संयुक्त नाम पर घरों का स्वामित्व प्रदान करके महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देता है। विकलांग व्यक्तियों, वरिष्ठ नागरिकों, एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक, एकल महिलाओं, ट्रांसजेंडर और समाज के अन्य कमजोर और कमजोर वर्गों को भी वरीयता दी जाती है।
योजना का प्रकार केंद्र सरकार योजना
Official website https://pmayg.nic.in/netiay/home.aspx

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण का उद्देश्य:

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2022, PMAY-G के तहत सभी घरों में शौचालय, पानी की आपूर्ति, बिजली और रसोई जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होती हैं। मिशन महिला सदस्य के नाम पर या संयुक्त नाम पर घरों का स्वामित्व प्रदान करके महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देता है। विकलांग व्यक्तियों, वरिष्ठ नागरिकों, एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक, एकल महिलाओं, ट्रांसजेंडर और समाज के अन्य कमजोर और कमजोर वर्गों को भी वरीयता दी जाती है।

Related links are given below:

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लाभार्थी:

  • विकलांग व्यक्तियों
  • वरिष्ठ नागरिकों
  • एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक
  • एकल महिलाओं
  • ट्रांसजेंडर
  • समाज के अन्य कमजोर
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022 की विशेषताएं:

  • प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2022 तक सभी के लिए आवास का देने का वादा किया था, इस हेतु 20 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना का शुभारंभ किया था।
  • इस योजना के तहत देशभर में 114 करोड़ आवास निर्मित किया जा चुका है।
  • प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना के तहत निर्मित किए गए सभी आवासों के लिए धनराशि चार किस्तों में डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में जियो टैग फोटोग्राफ के माध्यम से निर्माण के विभिन्न चरणों के सत्यापन के पश्चात प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत यह स्थानीय सामग्रियों और घरों के स्थानीय आधारित डिजाइन का उपयोग करके निर्माण की अनुमति प्रदान करता है।
  • इस योजना के तहत प्रशासनिक व्यय में निर्धारित राशि में से 4% से 2% की कटौती की गई है।
  • इस योजना में प्रधानमंत्री उज्जवल योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन, विद्युत कनेक्शन, जल जीवन मिशन के तहत सुरक्षित पेयजल तक पहुंच आदि के लिए भारत सरकार तथा राज्य एवं संघ राज्य क्षेत्रों की अन्य योजनाओं के साथ कार्य करने का प्रावधान किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत 1 करोड़ आवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • ग्रामीण आवास योजना 2022 के अंतर्गत आवास निर्माण के लिए जगह को 20 वर्ग मीटर से बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर किया गया जायेगा जिसमे रसोई हेतु क्षेत्र भी शामिल है।
  • इस योजना के तहत मैदानी क्षेत्रो में इकाई सहायता 1.20 लाख रूपये है और पर्वतीय क्षेत्रो में इकाई सहायता 1.30 लाख रूपये है।
  • इस योजना की कुल लागत 1,30 075 करोड़ रूपये है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा 60:40 के अनुपात में वहन की जाएगी।
  • ग्रामीण क्षेत्रो के परिवार का निर्धारण SECC 2011 के आकड़ो के आधार पर किया जायेगा।
  • किसी राज्य में दुर्गम क्षेत्र का वर्गीकरण राज्य सरकारों को करना होगा। इस तरह का वर्गीकरण किसी अन्य प्रावधान के अंतर्गत राज्य में मौजूदा वर्गीकरण के आधार पर और मापदंड पर आधारित कार्यप्रणाली का प्रयोग करते हुए किया जायेगा ।
  • हिमाचल राज्य–जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड को भी इस श्रेणी में शामिल किया जायेगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022 की पात्रता:

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए ।
  • PM Gramin Awas Yojana 2022 के तहत ऐसे परिवार जिनमे 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।
  • महिला मुखिया वाले परिवारों जिनमे 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।
  • ऐसे परिवार जिसमे 25 वर्ष से अधिक आयु का कोई साक्षर वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022 के लिए दस्तावेज:

  • आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का बैंक खाता
  • बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण आवेदन फॉर्म भरने के दिशा- निर्देश:

आवेदन पत्र भरते समय आवेदक को सभी दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है। यदि आवेदक द्वारा दिशा निर्देशों का पालन नहीं किया जाता है तो इस स्थिति में आवेदन पत्र रद्द किया जा सकता है। आवेदक को दिशा निर्देश पढ़ने के बाद सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दर्ज करनी होंगी। यह जानकारियां भी आवेदक को बहुत ध्यान पूर्वक दर्ज करनी होगी। जिससे कि किसी भी प्रकार की गलती ना हो। जानकारी भरने के बाद आवेदन पत्र को एक बार चेक करना भी अति आवश्यक है।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर करें आवेदन:

आवेदक को आवेदन पत्र भरते समय इस बात का ध्यान रखना अति आवश्यक है कि जिस वेबसाइट पर वह आवेदन कर रहे हैं वह आधिकारिक वेबसाइट है या नहीं। कई बार काफी सारी फेक वेबसाइट भी इंटरनेट पर होती है। जोकि फ्रॉड होती हैं। इन वेबसाइट के माध्यम से पैसों की वसूली की जाती है। आप को आवेदन पत्र भरते समय इस बात का खास ध्यान रखना होगा कि वेबसाइट भरोसेमंद हो।

  • आवेदन पत्र में कोई भूल ना करें:

आवेदन पत्र भरते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप से किसी भी प्रकार की कोई भूत ना हो। यदि आपने कोई भी गलती कर दी है तो आपको उसे फौरन ठीक करना होगा। यदि आपने गलती ठीक किए बिना फॉर्म को सबमिट कर दिया तो आपका आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा। कई सारे ऐसे फॉर्म होते हैं जिसमें आवेदन पत्र दर्ज करने के बाद करेक्शन किया जा सकता है। लेकिन कई सारे फॉर्म ऐसे होते हैं जिसमें एक बार आवेदन पत्र जमा करने के बाद उसमें किसी भी प्रकार का संशोधन नहीं किया जा सकता। इसलिए आपको इस बात का खास ध्यान रखना है कि आपके आवेदन पत्र में किसी भी प्रकार की भूल की गुंजाइश ना हो।

  • रेफरेंस नंबर प्राप्त करें:

फॉर्म जमा करने के बाद आपको एक आवेदन पत्र प्रदान किया जाता है आपको इस आवेदन पत्र को ध्यान पूर्वक संभाल कर रखना होगा जिससे कि आप इस नंबर के माध्यम से आप अपना कर सकते हैं तथा के माध्यम से प्रकार की जानकारी दी जा सकती है

  • आवेदन पत्र की लें प्रति:

आवेदन पत्र भरने के बाद आपको अपने पास आवेदन पत्र की फोटो कॉपी संभाल कर रखना अति आवश्यक है। इस आवेदन पत्र की कॉपी का भविष्य मैं जरूरत पड़ सकती है। जरूरत के समय आपको किसी सरकारी कार्यालय के चक्कर न काटने पड़ें इस स्थिति में आप को आवेदन पत्र की प्रति को संभाल कर रखना आवश्यक है।

  • अनावश्यक जानकारी ना दर्ज करें:

आपसे आपके आवेदन पत्र में जितनी जानकारी पूछी गई है आपको केवल उतनी ही जानकारी दर्ज करनी है। आपको किसी भी प्रकार की अनावश्यक जानकारी दर्ज करने की जरूरत नहीं है। यदि आप किसी भी प्रकार की अनावश्यक जानकारी दर्ज करते हैं तो इस स्थिति में आपका आवेदन पत्र आस्वीकार किया जा सकता है।

  • अनिवार्य जानकारी करें दर्ज:

आप को आवेदन पत्र में पूछी गई सभी प्रकार की अनिवार्य जानकारी दर्ज करना अनिवार्य है। सभी प्रकार की अनिवार्य जानकारी ज्यादातर स्टार से मांग होती है। आपको ऐसी सभी जानकारी दर्ज करनी होगी जिससे कि आपको आगे किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। यदि आप सभी प्रकार की अनिवार्य जानकारी ध्यान पूर्वक दर्ज करते हैं तो आप के आवेदन पत्र स्वीकार होने की संभावना बढ़ जाती है।

  • डॉक्यूमेंट अपलोड करें:

आवेदन पत्र में मांगे गए सभी प्रकार के डॉक्यूमेंट आपको अपलोड करना अनिवार्य है। ज्यादातर आवेदन पत्र मैं आपको फोटो तथा सिगनेचर अपलोड करने होते हैं। आपको डॉक्यूमेंट अपलोड करते समय डॉक्यूमेंट अपलोड करने के दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है। कई बार डॉक्यूमेंट अपलोड करने के लिए फाइल साइज तथा फाइल टाइप पहले से ही निर्धारित होती हैं। आपको सही फाइल टाइप तथा फाइल साइज अपलोड करना होगा। यदि आप सही फाइल टाइप तथा फाइल साइज अपलोड करेंगे तो आपका आवेदन पत्र स्वीकार किया जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण 2022 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण:

  • सर्वप्रथम आप प्रधानमंत्री ग्रामीण योजना की ओफिसिअल वेबसाइट  पर जाये इसे बाद ओफिसिअल वेबसाइट के होम पेज खलेगा होम पेज पर आपको DATA  ENTRY  का विकल्प दिखाई देगा।
  • इसके बाद DATA ENTRY पर क्लिक कर दीजिये क्लिक करने के बाद PMAY Rural ऑनलाइन आवेदन लॉगिन लिंक खुलेगा। 
  • इसके बाद पंचायत तथा ब्लॉक स्तर से मिला हुआ यूज़र नाम पासवर्ड की मदद से पंजीकरण लॉगइन कर दे। लॉग इन होने के बाद अपनी सुविधा अनुसार यूज़र नाम पासवर्ड को बदल दे।
  • इसके बाद आपको  PMAY Online Login   पोर्टल पर 4 विकल्प दिखाई देंगे first PMAY-G ऑनलाइन आवेदन ,second आवास आप द्वारा खींची गयी फोटो का सत्यापन ,third स्वीकृति पत्र डाउनलोड करना, FOURTH  FTO के लिये ऑर्डर शीट तैयार करना।
  • इन चारो विकल्प में से पहले वाले PMAY-G ऑनलाइन पंजीकरण पर क्लिक करके पंजीकरण फॉर्म को ओपन कर लीजिये।
  • PMAY-G के  पंजीकरण फॉर्म को ओपन करने के पश्चात् पंजीकरण फॉर्म में चार प्रकार डिटेल्स First Personal Details, Second Bank A/C Details, Third Convergence Details, Fourth Details From Concern Office भरनी होंगी।
  • पंजीकरण के प्रथम भाग में लाभार्थी पंजीकरण की सभी सूचनाएं भर दीजिये  तथा मुखिया का चयन करके मुखिया की सभी जानकारी उपलब्ध कराये।
  • तीसरे चरण में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के आवेदन फॉर्म को संशोधित करने के लिए के पोर्टल को यूज़र पासवर्ड की मदद से लॉगिन करे तथा पंजीकरण फॉर्म को संशोधित करने के लिए पंजीकरण फॉर्म पर क्लिक करे।
  • इस तरह आप प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में आवेदन फॉर्म भर कर आवेदन कर सकते है। और इस योजना का लाभ उठा सकते है। 

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण Online Registration:

ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो के लाभार्थियों का चयन 2011 सामाजिक, आर्थिक जाति जनगणना (SECC) के आकड़ो के अनुसार किया जायेगा। Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana 2022 के अंतर्गत इच्छुक लाभार्थी ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है। इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकरण कर सकते है तथा क्षेत्रीय पंजायत तथा जनसेवा केंद्र (CSC) के माध्यम से भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया:

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की लिंक मिलेगी।
  • यदि आप एंड्रॉयड यूज़र है तो आप गूगल प्ले स्टोर वाली लिंक पर क्लिक करिए और यदि आप आईफोन यूजर है तो आप ऐप स्टोर वाली लिंक पर क्लिक करिए।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना
  • जैसे ही आप लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने ऐप खुलकर आ जाएगा।
  • अब आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं।

Helpline Number:

Yojana Related links are given below:
Back to top button